शिवम् जन्मदिन 2019     


Poems : Wishes26-Feb-2019


चौबीस का हुआ आज मेरा बाबू,
बड़ा ऐसा लगने लगा जैसे हो साबू ,
मन में कुछ बात, कुछ नए हैं टैबू,
कुछ बात है काबू में, और कुछ बेकाबू

उमर बढ़ी है, बढ़ी हैं उम्मीदें,
ये दुनिया खड़ी है, फाड़े अपने दीदे
कुछ देखा न हो, ऐसे हैं नदीदे
यूं ही पढ़े जाते रहे हैं क़सीदे

जा मना ले शुकर तू, समुदर के पार
यहाँ पर की दुनिया बड़ी ज़ार ज़ार
किसी का किसी से न मिलता विचार
पर एक ही कुएँ में सभी मेरे यार

पर खुशियाँ होती हैं अपनी गुलाम
गर थाम के रखो जुबां की लगाम
न तराजू में रखो दिल का पयाम
करो बस मशक्क़त, यही एक काम

अब सालगिरह की मुबारक भी ले लो
ज़्यादा न शायरी मेरी झेलो
वरना करोगे लोल या लोलो
कुछ कविता में तुम भी बोलो

– तुकबंदीबाज पापू

Tags: , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

|