कमलेन्द्र श्रद्धांजलि 2018     


Poems : Tributes02-Oct-2018


कमलेन्द्र को हार्दिक श्रद्धांजली

जीवंत थे तुम कमलेन्द्र,
सदा जीवंत ही रहोगे |
परमात्मा से जा मिले तो क्या,
मित्रों के लिए तो तुम,
आदि भी रहोगे
अनंत भी रहोगे ||
आज अश्रु हैं थोड़े से,
साथ बीती यादें आएँगी
तो ये भी न रहेंगे,
आज तुम न रहे तो क्या
कल हम भी तो न रहेंगे,
मिलेंगे उसी अनोखे जहाँ में,
मित्र तो हम वहां भी रहेंगे ||

– सुनील जी गर्ग

 

Tags: ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

|