अमित अग्रवाल जन्मदिन 2018     


Poems : Wishes07-May-2018


अमित अमिट हैं यादें बचपन की,
मेमोरी पंद्रह की हो या पचपन की |
अपनी छाप रखती है बनाये,
जन्मदिन पर तुम्हारे वो लम्हे याद आये |
डेस्क पर अक्सर बैठते थे साथ,
टोकते थे टीचर जब करते थे बात |
वही बातें आज, धरोहर बनीं हैं,
दोस्तों की वजह से ही आज हम धनी हैं.

जन्मदिवस शुभ हो अमित

– सुनील जी गर्ग

 

Tags: , ,

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of
|