एस. सी. गर्ग साहेब के प्रपोत्र के विवाह पर     


Poems : Occasions27-Jan-2017


आपका जीवन रहे सँवरा सँवरा
स्वीकारें ये बधाई पत्र हमरा
आ न सके चाहते हैं क्षमा
आपकी खुशियों के लिए मांगते हैं दुआ ||

Tags: ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

|