जाग सकता है     


Poems : Shayari24-Jul-2019


पास आकर के बोला मेरा रहनुमा,
गुमां है तुझ पर निकलकर तो आ ।
मैं नहाया धोया तैयार हो गया,
वो अब न मिला तो मैं फिर सो गया ।।

कोई आएगा बुलाएगा यूं आदत बना ली,
मैं उठता था कम और नींद ज़्यादा ली ।
किसी ने कहा जब जागो सवेरा,
खुद अपनी समझ हो, मिटेगा अँधेरा।।

Tags: , , , , , ,

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of
|