एक अमरीकी की मौत     


Poems : Tributes06-Oct-2011


स्टीव भैया चले गए
मन में चुभन सी दे गए
जाना था सबको था पता
दिमाग था तेज तन था रीता

सोच अलग थी बड़ी अनोखी
दुनिया बना दी बड़ी ही चोखी
‘I’ लगाकर हर चीज में मुझे दिया सम्मान
ipod से iphone तक बदला सारा जहान

किसी अमरीकी की मौत पर
हिंदुस्तान न हुआ दुखी
अबकी बार बात अलग है
जिंदगी लग रही रुकी

दो भागों में बटाँ समय है
टूटा टूटा यहाँ हृदय है
एक जॉब्स से पहले का है
एक जॉब्स के बाद का है

खैर ये दुनिया बड़ी विकट है
नया शख्स कर लेगी पैदा
पर याद तुम्हारी जायेगी न
नाम तुम्हारा रहेगा जिंदा |

सुनील जी गर्ग

Written on 6th Oct 2011
After hearing the news of
Death of Great American Computer Innovator
Steve Jobs.
Written at 10.30 PM while travelling to
Mumbai by Pushpak Express.

Tags: , ,

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of
|