इन्साफ का ड्रामा     


Poems : Shayari13-Mar-2020


सच झूठ कुछ नहीं होता,
करीब करीब सबको होता है पता।
मगर इन्साफ का ड्रामा यक़ीनन है ज़रूरी,
आखिर किसी के तो मत्थे जड़ी जायेगी खता ।।

Tags: , , , ,

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of
|