तराशो दिल लगाकर     


Poems : Shayari06-Jun-2020


अनुभूतियाँ रूह को जगाती हैं
इंसान की,
पत्थर को तराशो दिल लगाकर,
फिर देखो बानगी |

Tags: , , ,

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of
|