हिंदी नववर्ष 2019

April 6, 2019

ये अपना प्यारा नया साल, बेहतर हो हम सब का हाल | अबके चुनाव का पड़ा है जाल, सही चुनें, इक वोट को डाल || छेती चंद, गुड़ी पड़वा मनावें, उगादी से मन को उठावें | विक्रम सम्वत भी गिन पावें, खुद खुश हों, औरो को बनावें – दुनिया में सबसे पहले से मनाये जाने […]

अभियंता दिवस 2018

September 15, 2018

विधियों, यंत्रों को बनाना और चलाना, नियंता ने हमको सौंपा है ये काम | अभियंत्रण, प्रबंधन करते हैं बेहतर, जनमानस के मन में, है अपना ऊंचा नाम || – अभियंता दिवस की सबको बधाई – सुनील जी गर्ग

स्वतंत्रता दिवस 2018

August 15, 2018

आधी रात मिली आज़ादी, फिर सुबह हुई हसीन | उचंग बढ़ी मन में सबके, सब खुशियों में तल्लीन || बंधन सारे टूट गए, चले गए फिरंगी | नयी सुबह तो हुई, मगर माहौल बड़ा अब भी जंगी || जंग बड़ी थी अब आगे, हर मुंह को निवाला देना था | रहने को छत देनी थी, […]

गणतंत्र दिवस 2018

January 26, 2018

शुभ हो सबको ये गणतंत्र, हों सब खुश, यही है मंत्र | भावनायों का हो सम्मान, तभी बढ़ेगा देश का मान | जाति, धर्म सब समझो एक, एक है ईश्वर, देश है एक | मेरे धर्म का नाम है भारत, बचपन से है इसकी आदत| राष्ट्रगान है प्रार्थना, देव मेरा तिरंगा, इसके तले ऐसा लगे, […]

नववर्ष 2018 (धन्यवाद कविता )

January 2, 2018

आपके नव वर्ष सन्देश का धन्यवाद, आपके लिए ये रचना समर्पित है || नव, नूतन, नवीन नया हो, हर क्षण जीवन रहे ताज़गी | बढ़े देश और बढ़ें ये रिश्ते, नए साल पर दिखी बानगी | करें नमन स्वीकार हमारा, होगा मिलना, होगी बात भी || सुनील जी गर्ग

नववर्ष 2018

January 1, 2018

नया क्या था पिछले साल, नया क्या होगा अबकी बार, किसी को तो लगी होगी, दुआ जो दी थी पिछली बार | ऐसी ही सोच रखके हमने, फिर से चलाई है कलम , न पिछली बार खाई थी, न अबके खायेंगे कोई कसम | वचन भर के, कसम खा के तोड़ने से अच्छा है, यूँ […]

नववर्ष 2018 (मित्रों के लिए)

January 1, 2018

नए/पुराने दोस्तों, नए साल पर भी दुआ में याद रखना, हमारे जिक्र का जुबाँ पे स्वाद रखना | नए साल की बधाई को पैगाम समझना, जल्दी मिलने की आरजू दिल में है न || सुनील जी गर्ग

New Year 2018

January 1, 2018

What was new last year, what could be new this time, Some one must have benefited, wishes that I gave last time. Thinking the same, I tried again with my pen, Neither I took resolution last time, nor will do it again. Better than breaking resolutions, it is far better, To keep moving with life […]

दोस्ती दिवस 2017

August 6, 2017

दोस्तों में ढूंढूं रिश्ते या रिश्तों में ढूंढूं दोस्ती दोस्ती का मनाऊँ एक दिन या हर दिन मनाऊँ ये दोस्ती कविता लम्बी क्या लिखूं क्यूंकि हर चीज़ से लम्बी चलेगी दोस्ती सुनील जी गर्ग

योग दिवस 2017

June 21, 2017

तन मन जाये बिखर तो आता योग है जो इनको जोड़ के रखे वही ‘योग’ है when mind and body separate disease strikes make it known to everyone that Yoga binds. – Happy International Yoga Day 2017

वैलेंटाइन डे 2017

February 14, 2017

संत वैलेंटाइन के जनम दिवस पर, प्यार का सागर छलका चहुँ ओर | आज रिश्तों को समझ लो ठीक से प्यारे, किनसे पड़ी है गांठ, और किनसे है पक्की डोर | बदल लो थोड़ी सी रीति, थोड़ी सी नीयत, बधाई तो ले ही लो, पर निभाने पर रखना है जोर || Happy Valentine’s Day

नववर्ष 2017

January 1, 2017

इस साल की कविता कुछ यूं है ये नया साल बदलेगा भारत की तस्वीर इसी साल बदलेगी हम सबकी तकदीर आप बस वादा करें कि करेंगे तदबीर नया साल फिर मनाएंगे जब उड़ेगी अबीर अब देश में रहा न गरीब न अमीर क्योंकि कुछ फैसलों ने मिटा दी लकीर बात तब ही बनेगी जब जिन्दा […]