मनोहर की विदाई

March 18, 2019

आज के उलझे युग में भी सरल हो सकते हैं लोग मनोहर उसके अनोखे उदहारण थे वहां भी ऐसा व्यक्ति चाहिए होगा ईश्वर को वहां बुलाने के भी अपने कारण थे जाओ तो जग से ऐसे जाओ दुश्मन भी झुकाये माथा शोर मचाने वाले जरा समझें चुप वीरों की भी, गायी जायेगी गाथा हम किसमें […]

शहीदों के ताबूत

February 15, 2019

टीवी पर शहीदों के तिरंगे में लिपटे बॉक्सेस देखकर हृदय द्रवित हो गया और बस ये लिख डाला, कोई बात किसी को उद्वेलित करती हो तो क्षमाप्रार्थी हूँ. पहले सोचा किसी से शेयर न करूँ, फिर सोशल मीडिया की पावर का प्रयोग करने का सोचा। लाइन लगी तिरंगों की, पर डूबा था तन मन गम […]

कमलेन्द्र श्रद्धांजलि 2018

October 2, 2018

कमलेन्द्र को हार्दिक श्रद्धांजली जीवंत थे तुम कमलेन्द्र, सदा जीवंत ही रहोगे | परमात्मा से जा मिले तो क्या, मित्रों के लिए तो तुम, आदि भी रहोगे अनंत भी रहोगे || आज अश्रु हैं थोड़े से, साथ बीती यादें आएँगी तो ये भी न रहेंगे, आज तुम न रहे तो क्या कल हम भी तो […]

काल के कपाल में

August 17, 2018

अटल जी की कविताओं के कुछ शब्द लेकर ये श्रद्धा सुमन मेरी तरफ से अर्पित हैं काल के कपाल में, देश का एक लाल क्यों ऐसे सो रहा है, देश रो रहा है बनती थी सबसे, पर मौत से ठनी थी शायद तभी सो रहा है, देश रो रहा है गीत नया गाता था, सबको सुनाता था चुप आज सो […]

एक और ख़ास अँगरेज़

March 14, 2018

टीवी पर स्टीफेन हाकिंग पर कोई प्रोग्राम न दिखा तो सोचा एक कविता से श्रद्धांजली देनी चाहिए . नहीं रहा एक अंग्रेज, नाम था स्टीफेन हाकिंग | समझाया ब्रम्हांड को उसने, की ब्लैक होल पर टॉकिंग || असमर्थ शरीर, समर्थ मस्तिष्क, दिया ईश्वर को चैलेंज | रिलेटिविटी को क्वांटम से मिलाया, किया साइंस को चेंज […]

गुरु कभी जाते नहीं

February 21, 2014

मुझे पता है कि, ख़तम हुआ है आपका पीरियड | अगले पीरियड तक याद करके रखूँगा पाठ, हो जायूँगा सीरियस  || मुझे पता है कि, आप कहीं जायोगे नहीं | आप याद नहीं, सीख बनकर रहेंगे पास, क्योंकि गुरु कभी जाते नहीं || मुझे पता है कि, आप ही की वजह से, मुझे सब पता […]