Poems


Poems - General View All

पूजें गणेश, पूजें लक्ष्मी, रख मर्यादा राम सम, मन से माटी दीप जलाएं, झालर से न भागे तम || करें प्रेम की आतिशबाजी, सारे मिलने वालों संग | बिना पटाखे फोड़े ही, मन हो सकता मस्त मलंग ||

आज गाँधी जयंती पर कुछ लिखने से रोक न सका. अंत तक पढेंगे तो पूरा भावार्थ पता लगेगा. जाति, धर्म में बंटे हुए, लालच में पूरे सने हुए, वादों, नारों में फंसे हुए, हम गाँधी के देश हैं | आदत के हम पूर्ण गुलाम, राम पे छोड़े सारे काम, हमको भाता बस आराम, हम गाँधी […]

तुम्हें कलेजा चीर के दिखाऊँ, या फिर चुप ही रह जाऊं क्या क्या समझाऊँ, या फिर घूँट खुद ही पी जाऊं मदद, मतलब, संस्कार, आचार, विचार नहीं सूझते कुछ भी सही शब्द, क्या बोलूं, क्या छिपाऊँ आदत से मजबूर मानूं खुद को, या सच की ताक़त अपनाऊँ फ़र्ज़ क्या, जरूरत क्या, सोच क्या, बदलाव क्या, […]

माँ को प्यार किया न किया माँ को त्यौहार बना डाला , दुनिया में लाने वाले को, दुनिया ने व्यापार बना डाला || जिसने जितना गिफ्ट दिया औकात बढ़ी उतनी ज्यादा | जिसने आँख में डाली दवाई, उसे मिला न कोई फायदा | बिल्डिंग, बैलेंस जहाँ मिला, अब वहीँ पर सारा जहाँ है | अब […]

मेरी बंद है जुबान, तभी तो कविता लिखी है, गुनाह करने के बाद, सज़ा से बचने की उम्मीद सी दिखी है| सोचा दिल का हाल, लिख कर दूं बयां, कोई पढ़ लेगा तो, किस्मत हो जायेगी रवां | बुराई से लड़ने का, रास्ता होता है कभी बुरा , समझने, समझाने से निकलता है कभी हल […]

Sent to Nav Bharat Times News Paper as Holi Poem.

मुझे पता है कि, ख़तम हुआ है आपका पीरियड | अगले पीरियड तक याद करके रखूँगा पाठ, हो जायूँगा सीरियस  || मुझे पता है कि, आप कहीं जायोगे नहीं | आप याद नहीं, सीख बनकर रहेंगे पास, क्योंकि गुरु कभी जाते नहीं || मुझे पता है कि, आप ही की वजह से, मुझे सब पता […]

Poems - Wishes View All

सजीव यादें हैं संजीव तुम्हारी, आज सब रिवाइंड हो रही है मेमोरी | शाम को पार्टी की हो रही होगी तैयारी, जरा एक प्लेट लगा लेना हमारी || जनम दिन मुबारक हो संजीव – कुछ पुरानी तस्वीरें संलग्न हैं

तन मन जाये बिखर तो आता योग है जो इनको जोड़ के रखे वही ‘योग’ है when mind and body separate disease strikes make it known to everyone that Yoga binds. – Happy International Yoga Day 2017

प्रिय के. सी. अग्रवाल, तुम पहले थे मेरे मित्र, आज भी तुम पहले ही रहोगे, अपनी सांसे थमने तक, याद में भी पहले ही रहोगे || विजय भवन ए की वो डोर्मट्री, मैट्रन ने मिलवाया था, कहा था अच्छे बच्चे हो तुम, फिर हमने हाथ मिलाया था || अब तक बन्धु, मेरे लिए, अच्छे बच्चे […]

अतुल मिश्र को जन्मदिन की शुभकामनाएं राग तुम्हारा रोज ही सुनते, संगीत बना जीवन में रहता | भाग्यशाली वो खुद को समझता, जो बंदा तुम्हे जानता रहता || जनम दिवस पर क्या मैं बोलूं, गीत मैं कौनसा गाकर सुनाऊँ | तुम खुद ही हो एक अजब बधाई, विद्या ये बटे तो खुश हो जाऊं || […]

के. के. पांडे को जन्मदिन की शुभकामनाएं सबसे अनोखे सबसे न्यारे, के. के. तुम हो सबके प्यारे | जनम दिवस पर लो ये बधाई, बढ़ो तुम आगे सबसे हमारे || सुनील जी गर्ग

डॉक्टर अमित के लिए बचपन की एक कविता बने डॉक्टर छोटे भैया फीस मांगते एक रुपैया जब इलाज को पहुची गुड़िया उसे थमा दी मीथी पुड़िया जनम दिन मुबारक हो एक चाइल्ड स्पेशलिस्ट को

अनिमेष अदिति जुड़कर आज करते सबकी पूरी मुराद शुरू से लेकर आज तलक तक सारी घड़ियाँँ आती याद याद मुझे है जनम तुम्हारा खुशहाल थी वो अवध की शाम याद तुम्हारा पहला खिलौना याद तुम्हारी हर मुस्कान आँख के तारे रहे सदा से घर की थे पहली संतान पालने में दिखा भविष्य घूमोगे तुम सारा जहान […]

|