क्रिसमस 2019     


Poems : Festivals25-Dec-2019


क्रिसमस क्रिसमस मैरी क्रिसमस
हो जाओ अब टस से मस
जाड़ा माना कुछ ज़्यादा है
कहती रजाई हिलना मत
पर दुनिया देखो रंग बिरंगी
जरा चलो बाहर होती जगमग
कहीं प्लम केक खा लेना तुम
सांता को मिलना गले से लग
बस यूं ही दिन मस्ती में कटा
मेरी छुट्टी से सबको मच मच
तुकबंदी पर मेरी हंसना मत
अंगूठा दिखाने में शर्माना मत ।।

Merry Christmas

Tags: ,

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of
|